Categories Shivangi Saxena

विवाह और विवशता

17  बरस की थी जब मेरा विवाह दिल्ली के किसी परिवार के साथ मुझसे बिना पूछे तय कर दिए गया । यूँ तोह मेरा आगे  आगे पढ़ने लिखने का विचार था परन्तु घर मे लड़कियों की सुनता कौन है । जब मैंने अपने आगे पढ़ने की बात घर मे सबको बताई तोह भाई ने मुझे […]

Read More